हिन्द में एक दिवस : हिन्दी के लिए

सुनिए… गुनिये… मिलकर चलिए… अपने देश के लिए… अपनी भाषाओं के लिए… अपनी पहचान के लिए… अपनी एकता के लिए… अपने लिए… अपने बच्चों के भविष्य के लिए… केवल आज नहीं, हर दिन… हमारी भाषाएँ हमें आशीष देती रहें… !! 🙂