‎राजस्थान दिवस

‪#‎राजस्थान_दिवस‬ ‪#‎३०मार्च‬ ‪#‎RajasthanDiwas‬ ‪#‎30March‬ ‪#‎राजस्थान‬‪#‎Rajasthan‬ ‪#‎धरती_धोराँ_री‬ ‪#‎रंग_दे_मोहे_केसरिया‬ ‪#‎रंग_दे_मोहे_गेरुआ‬‪ #‎पधारो_म्हारे_देस‬ ‪#‎PadharoMhareDes‬ ‪#‎RangeeloRajasthan‬‪#‎रंगीलो_राजस्थान‬ ‪#‎केसरिया_बालम‬ ‪#‎KesariyaBaalam‬

“सोणै री धरती जठै चाँदी रो असमान
रंग-रंगीलो रस भर्यो प्यारो राजस्थान”

Rajasthan Diwas 2016

हम प्रणाम करें उस पुण्य मरुभूमि को जो सदियों से भारत की तलवार और ढाल बनी रही है, जौहर की पुनीत ज्वाला को, मिट्टी से जुड़े आत्मगौरव के भाव को, पन्ना धाय के उत्सर्ग की पराकाष्ठा को, दुर्गादास के शौर्य को, भामाशाह के दान को, दादू के गान को, पद्मिनी के मान को, मीरा की भक्ति को, हम्मीर की शक्ति को, रानी वाघेली के त्याग को, प्रताप के स्वातन्त्र्य-प्रेम को, घास की रोटियों को, ढोला-मारू की लोक परम्पराओं को, संयोग-वियोग के गीतों को, अतिथि-सत्कार और शरणागत-रक्षा के संस्कारों को, अरावली के शिखरों को शताब्दियों से और अधिक उन्नत बनाते मजबूत दुर्गों के शिल्प को, लोक-कलाओं की सम्पन्न विरासत को, माँड के स्वर को, पारिवारिक सूत्रों को, सामाजिक मूल्यों को, थार की धूल में मिले सोमनाथ के सोने को, वैभव-युक्त जीवन जीने की लालसा, प्रयत्न और सफलता को, प्रतिकूल परिस्थितियों में भी जीवित रहने वाली जिजीविषा को, खेजड़ी के पेड़ों को, पश्चिमी छोर के बंजारों की प्रतिभा को, वचन की आन को, मातृभूमि की बान को, पगड़ी की शान को, शताब्दियों से आत्म-सम्मान के लिए बलिदान होते रहने वाले जीवट के धनी अनेकानेक वीर हुतात्माओं को, समग्र जीवन दर्शन को, इन सबसे ऊपर इनको सरस करने वाले प्रतीक कसूमल रंग को और इसके साथ हाथ मिलाये वर्तमान में हो रही तरक्की को, भविष्य की सुन्दर संकल्पना को…और इससे भी ऊपर अपनी चिरन्तन भारतीयता को.. 🙂

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s